दुनिया भर में लागू किए गए ‘वर्क फ्रॉम होम’ प्रोग्राम के चलते बैंडविड्थ के कम होने की आशंकाओं के कारण कई टेक्नोलॉजी कंपनियां यह फैसला ले रही है कि उनकी यूजेज बुनियादी ढांचे के रास्ते में ना आए। ऐसा करने के लिए Google के स्वामित्व वाली YouTube ने घोषणा की है कि कंपनी बैंडविड्थ को बचाने के लिए अपने प्लेटफॉर्म पर वीडियो की क्वालिटी को डिफॉल्ट रूप से स्टैंडर्ड डेफिनेशन (SD) पर सेट कर देगी। इससे पहले, नेटफ्लिक्स, अमेज़न प्राइम और हॉटस्टार जैसी अन्य स्ट्रीमिंग सेवाओं ने भी इस प्रकार के कदम उठाए हैं, जिससे यह सुनिश्चित किया जा सके कि इस अवधि के दौरान नेटवर्क में  लोड कम से कम रहे।

YouTube India ने कहा है कि वे अस्थायी रूप से HD और अल्ट्रा-एचडी स्ट्रीमिंग को डिफॉल्ट रूप से SD में सेट कर देंगे, जिसका बिटरेट मोबाइल नेटवर्क पर 480p से अधिक नहीं होगा। यह फैसला 14 अप्रैल तक के लिए लिया गया है। YouTube के अलावा, कंपनी ने अपने होमपेज पर एक प्रोमो कार्ड बनाया है जो कोरोनावायरस (कोविड-19) को लेकर अप-टू-डेट जानकारी के लिए MoHFW वेबसाइट के साथ लिंक है। कोरोनोवायरस के बारे में जानकारी, सर्च रिज़ल्ट और वीडियो भी डब्ल्यूएचओ जैसे विश्वसनीय स्रोतों के जरिए दी जाएगी। साथ ही यह भी कहा गया है कि यह वायरस के प्रसार को रोकने के लिए टिप्स की स्पेशल तौर पर तैयार प्लेलिस्ट भी दिखाई जाएगी।

Google के एक प्रवक्ता ने बयान जारी किया है और बताया है कि कंपनी इस अभूतपूर्व स्थिति के दौरान सिस्टम पर तनाव को कम करने के लिए दुनिया भर की सरकारों और नेटवर्क ऑपरेटरों के साथ मिलकर काम करना जारी रखेगी। गूगल का यह भी कहना है कि पिछले हफ्ते कंपनी ने युरोपीयन यूनियन के लिए अस्थायी रूप से सभी वीडियो को डिफॉल्ट रूप से एसडी पर सेट करने की घोषणा की थी और अब कंपनी इसे ग्लोबल स्तर पर लागू करने वाली है।

YouTube के अनुसार, ये उपाय अगले कुछ दिनों में वैश्विक स्तर पर जारी किए जाएंगे और लगभग 30 दिनों तक लागू रहेंगे।

नेटफ्लिक्स, डिज़नी+, अमेज़न प्राइम, हॉटस्टार जैसी बहुत सारी स्ट्रीमिंग सेवाएं भी सभी नेटवर्क के तनाव को कम करने के लिए उपाय कर रहे हैं। यहां तक ​​कि डिज़नी+ को यूरोप में कम गुणवत्ता के साथ लॉन्च करने के लिए सेट किया गया है, ताकि वर्क फ्रॉम होम करने वाले यूज़र्स के बढ़ती खपत से होने वाले नेटवर्क टेंशन को कम किया जा सके।

नेटफ्लिक्स ने भी इंटरनेट ट्रैफिक को स्मूथ बनाने के लिए भारत में अगले 30 दिनों के लिए वीडियो की क्वालिटी को कम कर दिया है। हॉटस्टार ने भी अपने प्लेटफॉर्म पर क्वालिटी को एसडी पर लॉक कर दिया है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here