टोक्यो. कार मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री मौजूदा समय में तेज बदलाव के दौर से गुजर रही है। विकसित देशों में इलेक्ट्रिक वाहन धीरे-धीरे अपनी पैठ बनाने लगे हैं। जापान की मल्टीनेशनल कार निर्माता कंपनी निसान का मानना है कि इससे भविष्य में लोगों की कार को लेकर पसंद भी बदलेगी।

 

अभी एसयूवी गाड़ियों की डिमांड ज्यादा है। लेकिन, निसान का मानना है कि आने वाले समय में सेडान का दौर फिर लौटेगा और लोग एसयूवी को बोरिंग फैमिली कार मानेंगे। निसान के मुताबिक इलेक्ट्रिक वाहनों के बढ़ते चलन और राइड शेयरिंग सर्विस की लोकप्रियता में हो रहा लगातार इजाफा इसका कारण बनेंगे।निसान में हाल ही में नियुक्त चीफ प्रोडक्ट प्लानर इवान एस्पिनोसा कहते हैं, ‘लोगों के लिए एसयूवी अब उतना कूल नहीं है जितना कुछ साल पहले था। यह सही है कि अभी भी सबसे ज्यादा बिक्री एसयूवी की हो रही है, लेकिन जल्द ही यह बदल सकता है। हाल ही में हमने 11 बड़े कार मार्केट में सर्वे कराया है। जिन लोगों के पास अभी सेडान नहीं है उनमें से 75% ने कहा कि वे अगली कार के तौर पर सेडान खरीदने का विचार करेंगे। युवाओं के बीच यह आंकड़ा 80% का है।’ निसान का कहना है कि अब दुनियाभर में तेजी से इलेक्ट्रिक कार का चलन बढ़ रहा है। ज्यादा बैटरी एफिशिएंसी के लिए अधिकतर इलेक्ट्रिक कार सेडान मॉडल में ही बन रही है। इसलिए भविष्य में कार खरीदने वालों के पास सेडान में ज्यादा विकल्प मौजूद रहेंगे। इसके अलावा राइड शेयरिंग सर्विस का इस्तेमाल करने वाले भी एसयूवी की जगह सेडान में बैठना पसंद करते हैं।

 

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक 2040 तक दुनियाभर में बिकने वाली नई कार में से 50% से ज्यादा इलेक्ट्रिक कार होगी।इसी तरह राइड शेयरिंग का ट्रेंड भी तेजी से बढ़ रहा है। ब्लूमबर्ग की एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक आने वाले समय में लोग कार खरीदने की बजाय ओला, उबर जैसी सर्विस को ही ज्यादा तरजीह देंगे। चीन के बाजार से मिल रहे संकेत भी निसान के आकलन को बल देते हैं। चीन में हालिया समय में एसयूवी की डिमांड घटी है। करीब एक दशक तक सेडान पर बढ़त बनाने के बाद अब एसयूवी वहां लोकप्रियता खो रही है।

 

प्रोडक्ट बेहतर करने पर 3 हजार करोड़ खर्च करेगी कंपनी 

 

निसान ने मई में घोषणा की थी कि वह अपने सभी प्रोडक्ट को बेहतर करने के लिए तीन साल में 43 करोड़ डॉलर (करीब 3 हजार करोड़ रुपए) खर्च करेगी। साथ ही वह इस दौरान 20 से ज्यादा नए मॉडल भी पेश करेगी। कंपनी इलेक्ट्रिक वाहनों पर भी बड़ा निवेश करने वाली है। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here