• पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ ने कहा- विराट कोहली और रोहित शर्मा ने वनडे में नई मिसाल कायम की
  • द्रविड़ के मुताबिक- कोहली, केन विलियम्सन और स्टीव स्मिथ के पास बेहतरीन डिफेंस है

दैनिक भास्कर

Jun 09, 2020, 03:51 PM IST

पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ ने कहा कि मौजूदा क्रिकेट में बल्लेबाजों का स्ट्राइक रेट बहुत ज्यादा है। द्रविड़ के मुताबिक, यदि वह आज के दौर में खेल रहे होते तो शायद टिक ही नहीं पाते। क्रिकेट वेबसाइट क्रिकइंफो के वीडियोकास्ट पर द्रविड़ ने पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर से बातचीत की।

द्रविड़ ने कहा, ‘‘मुश्किल वक्त में आसानी से बल्लेबाजी करने के लिए क्रीज पर लंबे समय तक डटे रहना, गेंदबाजों को थका देना और बॉल को पुराना करना होता है। यह मैंने अच्छे से किया।’’

मेरा खेल अलग हो सकता था
राहुल ने कहा, ‘‘मैं जब अपना काम देखता हूं तो गर्व होता है। इसका मतलब यह नहीं है कि मैं वीरेंद्र सहवाग की तरह आक्रामक बल्लेबाजी नहीं करना चाहता था। मेरा खेल अलग हो सकता था। लेकिन मेरा टैलेंट भरोसे और पक्के इरादे के साथ ध्यान से बल्लेबाजी करना था। और मैंने यही किया।’’

सचिन-सहवाग से ज्यादा स्ट्राइक नहीं था
राहुल ने कहा, ‘‘मैं जिस तरह की बल्लेबाजी करता था, वही आज के दौर में करता तो टिक नहीं पाता। आज के खिलाड़ियों के स्ट्राइक रेट देखिए। वनडे में मेरा स्ट्राइक रेट सचिन तेंदुलकर या वीरू (सहवाग) से भी ज्यादा नहीं था। लेकिन यह वह स्ट्राइक रेट था, जो हमने उस दौर में खेला था।’’

विराट-रोहित से अपनी तुलना नहीं कर सकता
उन्होंने कहा, ‘‘मैं विराट कोहली और रोहित शर्मा से अपनी तुलना कर ही नहीं सकता। उन्होंने वनडे में नए लेवल छूकर मिसाल कायम की है। ईमानदारी से कहूं तो मैं खुद को टेस्ट प्लेयर के तौर पर ही बेहतर बनाना चाहता था।’’

आज कोई टेस्ट क्रिकेटर नहीं बनना चाहता
द्रविड़ ने कहा, ‘‘आज कोई भी टेस्ट क्रिकेटर नहीं बनना चाहता है। युवा टी-20 और वनडे में करियर बनाना चाहते हैं। वे बगैर रक्षात्मक तकनीक के आसानी से क्रिकेट में डटे रहना चाहते हैं। एक पीढ़ी पहले आप क्रिकेट में बने रहने के लिए बेहतर टेस्ट प्लेयर बनना चाहते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं है।’’

कई खिलाड़ियों के पास बेहतरीन रक्षात्मक तकनीक
पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘आज भी कई खिलाड़ी ऐसे हैं, जिनके पास बेहतरीन डिफेंसिव टेक्नीक है। इनमें विराट कोहली, केन विलियम्सन और स्टीव स्मिथ शामिल हैं। डिफेंस टेक्नीक का मतलब होता है कि आप विकेट बचाकर  मुश्किल वक्त में भी आसानी से विकेट पर टिक सकें। और जो टेस्ट का बेहतरीन खिलाड़ी होता है, वह यह काम बखूबी कर लेता है।’’

द्रविड़ ने 244 वनडे में 71.24 की स्ट्राइक रेट से 10889 रन बनाए
द्रविड़ ने 164 टेस्ट में 42.51 की स्ट्राइक रेट से 13288 और 244 वनडे में 71.24 की स्ट्राइक रेट से 10889 रन बनाए हैं। उनके नाम एकमात्र इंटरनेशनल टी-20 में 147.62 की स्ट्राइक रेट से 31 रन हैं। आईपीएल के 89 मैच द्रविड़ ने 2174 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 115.52 का रहा था।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here