ऑटो डेस्क, संचित टंडन, नई दिल्ली. इन दिनों कारों में एक नहीं कई सेफ्टी फीचर्स ऐसे हैं जिनकी आधुनिकता आपको रोमांचित जरूर करती होगी। लेकिन जब इतिहास टटोलेंगे तो जानकारी होगी कि कुछ सेफ्टी फीचर्स आपकी उम्र से भी ज्यादा पुराने हैं। यहां ऐसे ही सेफ्टी फीचर्स की बात कर रह हैं।

 

एडीएएस टेक्नोलॉजी : एडवांस ड्राइवर असिस्टेंस सिस्टम्स (एडीएएस) आज कई गाड़ियों में मिल रहा है, इसके नाम अलग हो सकते हैं लेकिन इतिहास एक है। 1950 के दशक की शुरुआत में ‘कैडिलेक’ ने कॉलिजन वॉर्निंग सिस्टम के शुरुआती संस्करण पर काम कर लिया था, लेकिन अत्यधिक लागत के कारण यह बेकार सिद्ध हुआ। फिर यह 1995 से पहले नहीं दिखा। कैलिफोर्नि या के इंजीनियर्स ने रडार बेस्ड टेक्नोलॉजी को नॉर्थ अमेरिका के ऑटो शो में पेश किया। इसके बाद भी इस टेक्नोलॉजी को परिपक्व होने में करीब 20 साल लग गए।

 

ब्लाइंड स्पॉट वॉर्निंग : मिरर्स को ब्लाइंड स्पॉट मॉनिटर्स का जनक माना जाता है और कारों में इनका उपयोग लगभग 100 साल से हो रहा है। सबसे पहले कार में मिरर अंदर दिया था, जिससे कार के पीछे की स्थिति का जायज़ा लिया जा सकता था। साइड मिरर्स 50 के दशक के बाद अमेरिका में शुरू हुए थे, जब वहां हाईवे सिस्टम डेवलप होना शुरू हुए और लेन बदलने में ड्राइवर्स को दिक्कत होने लगी। एडवांस ब्लाइंड स्पॉट मॉनिटरिंग सिस्टम को पहली बार 2005 में वॉल्वो एस80 में देखा गया।

 

एडॉप्टिव क्रूज कंट्रोल : एडॉप्टिव क्रूज़ कंट्रोल (एसीसी) के शुरुआती संस्करण को जापान में 1990 के दशक में मित्सुबिशी ने पेश किया था। लेज़र टेक्नोलॉजी पर आधारित था यह सिस्टम, जो सामने वाले वाहन की दूरी को मापकर व्हीकल की स्पीड को मैनेज कर लेता था। रडार असिस्टेड सिस्टम की शुरुआत 1999 में हुई थी, जब मर्सिडीज़ बेंज ने इस फीचर को एस-क्लास और सीएल-क्लास में पेश किया। फिर यह टेक्नोलॉजी मेच्योर हुई और कोलिजन अवॉइडेंस सिस्टम इसमें शामिल हुआ।

 

बैकअप कैमरे : अब तो सभी बैकअप कैमरे के बारे में जानते हैं, लेकिन 1991 में जब यह पहली बार आए थे, तो ड्राइवर्स की आंखें आश्चर्य से चौड़ी हो गई थीं। टोयोटा ने इसे अपनी कारों में लगाया था लेकिन 1997 में यह फिर गायब हो गए थे। सन् 2000 में इनकी तब वापसी हुई जब इनफिनिटी ने रिअरव्यू मॉनिटर को फीचर बतौर अपनी एक सेडान में पेश कर दिया। 2007 में इनफिनिटी ने ही ‘अराउंड व्यू मॉनिटर’ भी पेश कि या जो ड्राइवर को चार कैमरों की मदद से कार का बर्ड्स आई व्यू देता है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here