हैंडसेट निर्माता कंपनी Lenovo ने भारतीय बाजार में अपनी जगह बना ली है। 10,000 से 15,000 रुपये के प्राइस सेगमेंट में लेनोवो ब्रांड के कई ऐसे स्मार्टफोन हैं जिन्हें खरीदने का फायदे का सौदा हो सकता है। Lenovo ने अपनी पकड़ को मजबूत बनाने के लिए Motorola ब्रांड और Zuk सीरीज के स्मार्टफोन पर ध्यान केंद्रित किया। मोटोरोला ब्रांड के फोन बनाने के साथ-साथ एक बार फिर लंबे अरसे के बाद कंपनी ने भारतीय बाजार में खुद के स्मार्टफोन को उतारना शुरू कर दिया है। याद करा दें कि पिछले महीने कंपनी ने भारत में अपने दो नए स्मार्टफोन Lenovo K9 और Lenovo A5 को लॉन्च किया था।

Lenovo K9 स्मार्टफोन के प्रमुख फीचर की बात करें तो यह स्मार्टफोन चार कैमरों के साथ आता है। सबसे मजेदार बात यह है कि लंबे अरसे के बाद लेनोवो ने पसंदीदा के सीरीज के फोन को मार्केट में उतारा है। Lenovo K3 Note, Vibe K4 Note, K6 Power और पिछले साल लॉन्च हुआ लेनोवो के8 प्लस कंपनी के K सीरीज में शामिल हैं। आइए जानते हैं कि क्या लेनोवो अपनी पुरानी सफलताओं को दोहरा पाएगी या नहीं।
 

Lenovo K9 का डिजाइन

आमतौर पर इस बजट में आने वाले स्मार्टफोन में ग्लास बैक पैनल देखने को नहीं मिलता लेकिन कंपनी का लेनोवो के9 स्मार्टफोन ग्लास बैक पैनल के साथ आता है। फोन का ब्लू और ब्लैक ग्लास पैनल रिफ्लेक्टिव है। ग्लास पैनल होने की वजह से यह हाथों में आसानी से फिसलता है, यही वजह है कि यूजर को सलाह दी जाती है कि फोन को हाथ में पकड़ते समय सावधानी बरतें। हमारे पास मौजूद रिव्यू यूनिट को एक सप्ताह इस्तेमाल करने के बाद हमने पाया कि फोन के बैक पैनल पर स्क्रेच पड़ गए थे।
 

lenovo

फोन के फ्रंट पैनल पर दो सेल्फी कैमरे, सेंसर और ईयरपीस मौजूद है। Lenovo ब्रांड का यह मॉडल बजट स्मार्टफोन है। बजट स्मार्टफोन होने के कारण फ्रंट पैनल पर अब भी टॉप व बॉटम में थिक बॉर्डर हैं। लेकिन इस दाम में Lenovo K9 का लुक काफी प्रभावशाली लग रहा है। फ्रंट और बैकपैनल पर दिए गए ग्लास घुमावदार किनारों के साथ आते हैं। रियर कैमरा सेटअप हलका उभार वाला है। फ्रेम घुमावदार होने के कारण फोन की ग्रिप अच्छी रहती है। सिक्योरिटी के लिए बैक पैनल पर फिंगरप्रिंट सेंसर नजर आ रहा है। फोन के निचले हिस्से पर 3.5 मिलीमीटर हेडफोन जैक और चार्जिंग के लिए यूएसबी टाइप-सी पोर्ट दिया गया है। दायीं तरफ दिए गए बटन काफी छोटे हैं और एक-दूसरे के बेहद करीब भी हैं। संभव है कि आप कई बार सही बटन चुनने में कंफ्यूज हो जाएं।
 

Lenovo K9 स्पेसिफिकेशन और सॉफ्टवेयर

Lenovo का यह फोन नए मीडियाटेक हीलियो पी22 प्रोसेसर से लैस है। फोन में आठ एआरएम कॉर्टेक्स-ए53 सीपीयू हैं जिनकी सर्वाधिक स्पीड 2 गीगाहर्ट्ज़ है और साथ ही इसमें पावर वीआर जीई8320 जीपीयू का इस्तेमाल किया है। फोन की कीमत को ध्यान में रखते हुए 3 जीबी रैम के साथ 32 जीबी स्टोरेज हमें पसंद आया। फोन में जान फूंकने के लिए 3000 एमएएच की बैटरी दी गई है।

इसमें 5.7 इंच का एचडी+ (720×1440 पिक्सल) डिस्प्ले है। यह काफी क्रिस्प और ब्राइट है। लेकिन ग्लास सतह पर रिफ्लेक्शन के कारण इसे आउटडोर में इस्तेमाल करने में दिक्कत हुई। रियर पर 13 मेगापिक्सल के साथ 5 मेगापिक्सल का कैमरा दिया गया है। यही सेटअप फ्रंट पैनल पर भी है। एक्सेलेरोमीटर, एंबियंट लाइट सेंसर और प्रॉक्सिमिटी सेंसर फोन का हिस्सा हैं।

यूएसबी टाइप-सी पोर्ट की मौज़ूदगी ने हमें चौंकाया। क्योंकि लगभग सारे बजट फोन और कई प्रीमियम फोन अब भी स्टैंडर्ड माइक्रो-यूएसबी के साथ आते हैं। दूसरी तरफ, हाइब्रिड डुअल सिम ट्रे से निराशा होती है, इसका मतलब दूसरे स्लॉट में आप या तो सिम लगा सकते हैं या फिर माइक्रोएसडी कार्ड। अगर आप दो सिम इस्तेमाल करते हैं तो दोनों पर एलटीई सपोर्ट मिलेगा। Lenovo ने सॉफ्टवेयर में अपने कुछ फीचर भी जोड़े हैं, लेकिन यह अब भी स्टॉक एंड्रॉयड 8.1 जैसा ही लगता है।
 

lenovo

सबसे पहले हमने Lenovo K9 में जो बात नोटिस की वह इसके यूआई एलिमेंट्स में है, जैसे कि आइकन, टेक्स्ट और स्टेट्स बार भी बड़ा नजर आ रहा है। तीन उंगलियों का इस्तेमाल कर आप आसानी से स्क्रीनशॉट ले पाएंगे। जेस्चर की मदद से कस्टमाइजेशन का इस्तेमाल करना संभव होगा। लेनोवो के9 में ड्यूरास्पीड फीचर दिया गया है। हमने यह फीचर अन्य मीडियाटेक प्रोसेसर से लैस फोन में भी देखा है। यह फीचर करंट ऐप को पूरी तरह से बंद कर देगा जिस वजह से ऐप बंद होने के बाद बैकग्राउंड में नहीं चलेगा। ध्यान दें कि इस फीचर का इस्तेमाल करने के बाद आपको उस ऐप से संबंधित नोटिफिकेशन प्राप्त नहीं होंगे। हमारे पास मौजूद रिव्यू यूनिट अगस्त 2018 सिक्योरिटी पैच पर चलता है।

फोन में आपको पहले से गेमलॉफ्ट गेम्स और यूसी ब्राउजर प्री-इंस्टॉल मिलेगा, अच्छी बात यह है कि इन ऐप्स को आप रिमूव कर पाएंगे। Lenovo K9 में आपको SyncIt ऐप मिलेगा जो बैकअप और आपके कॉन्टैक्ट, मैसेज और कॉल लॉग को रीस्टोर करने में मदद करेगा। इसी के साथ Lenovo App Daily ऐप स्टोर को अन-इंस्टॉल करने संभव नहीं होगा।
 

Lenovo K9 परफॉर्मेंस, बैटरी लाइफ और कैमरा

आम इस्तेमाल में हमें फोन से कोई शिकायत नहीं हुई। लेकिन हैवी ऐप्स लैग का एहसास हुआ। कई बार तो यह दिक्कत गूगल प्ले स्टोर में स्क्रॉल करने के दौरान भी हुई। गेमिंग का भी अनुभव बहुत अच्छा नहीं रहा। इस स्क्रीन पर वीडियो देखना मज़ेदार था। स्पीकर बातचीत के लिए उपयुक्त है, लेकिन म्यूजिक में आवाज़ खराब हो जाती है। फिंगरप्रिंट सेंसर तेज़ी से काम करता है। फोन ज़्यादा गर्म भी नहीं होता।

लेनोवो क9 ने एंटूटू बेंचमार्क पर 78,460, पीसीमार्क वर्क 2.0 पर 4,876 स्कोर किया है। जीएफएक्सबेंच टी-रेक्स ग्राफिक्स टेस्ट सीन में Lenovo K9  की परफॉर्मेंस 27fps थी। बैटरी लाइफ अच्छी है। हमारे अनुभव के हिसाब से आम इस्तेमाल में लेनोवो के9 की बैटरी पूरा दिन चल जाएगी। एचडी वीडियो लूप टेस्ट में बैटरी 11 घंटे 22 मिनट तक चली। वहीं, बैटरी शून्य से 40 फीसदी तक चार्ज होने में एक घंटे का वक्त लेती है, जिसे धीमा कहा जाएगा।
 

img
img
img
img

इस फोन के चार कैमरों की परफॉर्मेंस के बारे में हम यही कहेंगे कि नतीजे मिले जुले आए। 13 मेगापिक्सल के प्राइमरी रियर कैमरे का फोकस सॉफ्ट है। हमारे कुछ शॉट ब्लरी आए, वो भी सूरज की रोशनी में। Lenovo K9 को उन सीन में भी दिक्कत हुई जिनमें लाइट और शेडो एरिया के बीच काफी कॉन्ट्रास्ट था। कलर्स भी काफी डल और वाश्ड आउट आए। बोकेह मोड में एक-दो शॉट बेहतरीन आए, लेकिन बैकग्राउंड आर्टिफिशियली डिस्टॉर्टेड था। आप दो फ्रंट कैमरों को इस्तेमाल में लाकर पोर्ट्रेट सेल्फी भी ले सकते हैं। इफेक्ट अच्छा था, लेकिन इमेज की ओवरऑल क्वालिटी को नुकसान हुआ।

रात में लिए गए शॉट थोड़े डार्क आए। लेकिन जो भी डिटेल दिख रहा था वो ठीक लगा। फुल साइज़ में ज़ूम इन करने पर नॉयज़ और ग्रेन साफ नज़र आया। लेकिन कीमत को देखते हुए क्वालिटी को बुरा नहीं कहा जा सकता। वीडियो भी ग्रेनी और डार्क आए। कैमरा ऐप में पनोरमा मोड और ब्यूटिफिकेशन के अलावा ज़्यादा फीचर नहीं मिलेंगे।
 

फैसला

Lenovo K9 की सबसे अहम खासियत है चार कैमरे- दो फ्रंट पैनल पर और दो रियर पर। हालांकि, फोटो क्वालिटी इस फोन का सबसे मज़बूत पक्ष नहीं है। कैमरा सेटअप से हमें दिन में भी थोड़े चौंकाने वाले कमज़ोर शॉट मिले। हमें उम्मीद है कि सॉफ्टवेयर अपडेट के ज़रिए कंपनी कुछ सुधार कर लेगी। इसके अलावा यह बेहद ही आकर्षक फोन है। हमें नहीं लगता है कि नॉच या बेहद ही पतले बॉर्डर की ऐसी कोई अहम ज़रूरत है। Lenovo ने इस फोन के साथ फीचर्स और पोर्टेबिलिटी के बीच अच्छा बैलेंस बनाया है।

इस फोन की परफॉर्मेंस और बैटरी लाइफ बजट सेगमेंट के लिए काफी है। इसकी सबसे बड़ी खामी केवल फोन में मौजूद हाइब्रिड स्लॉट है। हम सलाह देते हैं कि फोन को बचाने के लिए प्रोटेक्टिव कवर का इस्तेमाल करें। सिक्योरिटी के लिए  अगर आपको लेनोवो के9 का लुक पसंद है और इसके कैमरों से समझौता कर सकते हैं तो यह Xiaomi Redmi 6 का एक अच्छा विकल्प है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here