• पुलिस जैसे विकास के घर के सामने पहुंची, उसकी छत से ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू हो गई
  • आरोपी विकास ने घर को किलेनुमा बना रखा है, कंटीले तार से बाउंड्रीवाल को घेरा हुआ है

दैनिक भास्कर

Jul 03, 2020, 12:15 PM IST

कानपुर. कानपुर देहात के बिकरु गांव में पुलिस पार्टी पर हमले में अब नई बातें सामने आ रही हैं। मीडिया रिपोर्ट्स और पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, छापे की जानकारी विकास दुबे को पहले से लग गई थी। उसने रात में बीच रास्ते पर जेसीबी खड़ी कर दी थी। आसपास के घरों में बदमाश छिप गए थे। पुलिस जैसे विकास के घर के सामने पहुंची, उसकी छत से ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू हो गई। 

अचानक हुई फायरिंग से पुलिस हैरान रह गई। एक टीम पीछे हटकर बैकअप देने लगी। वहीं, दो टीमों ने आगे बढ़कर फायरिंग का जवाब देना शुरू किया। सूत्रों ने बताया कि टीम का नेतृत्व सीओ बिल्हौर देवेंद्र मिश्रा कर रहे थे। उन्होंने घर के अंदर जाने की कोशिश की। तभी बदमाशों ने उन्हें अंदर खींच लिया और उनके सिर पर गोली मार दी। इसी तरह सिपाहियों को पकड़ लिया और पीट-पीट कर उनकी हत्या कर दी। अचानक हुए इस हमले में सर्कल ऑफिसर (डीएसपी) और 3 सब इंस्पेक्टर समेत 8 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई।

पिंटू सेंगर हत्याकांड के शूटर के भी छिपने की मिली थी सूचना
बीते 20 जून को बसपा नेता पिंटू सेंगर की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। वारदात को अंजाम देकर हत्यारे फरार हो गए थे। सीसीटीवी फुटेज में 2 बाइक पर 4 संदिग्ध जाते दिखाई दिए थे। मामले में मृतक के परिजनों ने 7 नामजद सहित 8 लोगों को पर एफआईआर दर्ज कराई थी। सूत्रों की मानें तो पुलिस को पता चला कि, पिंटू हत्याकांड के शूटर भी हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के घर छिपे हुए हैं। इसकी सूचना पर बिठूर, चौबेपुर और शिवराजपुर थाना क्षेत्र की फोर्स बिल्हौर सीओ देवेंद्र मिश्रा के साथ रात में दबिश डालने गांव पहुंची थी।

घर के सामने खड़ी जेसीबी।

विकास का किलेनुमा घर है, घटनास्थल से एके-47 के खोखे मिले 
विकास दुबे ने घर को किलेनुमा बना रखा है। कंटीले तार से बाउंड्रीवाल को घेरा हुआ है। गेट पर सीसीटीवी लगे हैं। गेट के ठीक सामने जेसीबी को खड़ा किया गया था। पुलिस को तलाशी के दौरान विकास के घर से कई लग्जरी गाड़ियां मिलीं। उनके शीशे टूटे थे। ऐसा माना जा रहा है कि मुठभेड़ के दौरान गाड़ियों को नुकसान पहुंचा। घटना स्थल से एके-47 के खोखे भी बरामद हुए। गांव में सन्नाटा पसरा है। लोग अपने घरों को छोड़कर दूसरे गांव चले गए।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here