• लॉकडाउन में आर्थिक तंगी से परेशान एक व्यक्ति ने कोटा में घर में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली
  • राजस्थान में शुक्रवार को 255 लोग कोरोना से रिकवर हुए, सभी को डिस्चार्ज कर दिया गया

दैनिक भास्कर

Jun 19, 2020, 09:55 PM IST

जयपुर. शुक्रवार को राजस्थान में 299 नए पॉजिटिव केस सामने आए। इनमें भरतपुर में 55, जोधपुर में 38, जयपुर में 33, पाली में 24, बीकानेर में 26, नागौर में 16, झुंझुनू, भीलवाड़ा और अलवर में 14-14, चूरू में 13, बाड़मेर में 12, गंगानगर में 8, टोंक और धौलपुर में 6-6, अजमेर में 4, हनुमानगढ़ में 3, झालावाड़ और राजसमंद में 2-2, सवाई माधोपुर, डूंगरपुर, उदयपुर, जालौर, जैसलमेर और चित्तौड़गढ़ में 1-1 संक्रमित मिला। वहीं, दूसरे राज्यों से आए 3 भी संक्रमित मिले। जिसके बाद कुल संक्रमितों का आंकड़ा 14156 पहुंच गया। वहीं, 3 मौत भी रिकॉर्ड की गई। इनमें अजमेर, जयपुर और करौली में 1-1 मौत हुई। जिसके बाद कुल मौतों का आंकड़ा 333 पहुंच गया।

वहीं, राजस्थान के रिकवरी रेट में भी लगातार सुधार हो रहा है। शुक्रवार को 255 लोग कोरोना से रिकवर हुए। वहीं, 255 को डिस्चार्ज कर दिया गया। अब तक राज्य में कुल 10997 लोग संक्रमण से रिकवर हो चुके हैं। इनमें से 10739 को अस्पताल से डिस्चार्ज भी किया जा चुका है। जो कुल संक्रमितों का 75 फीसदी है।  

नागौर में पीपीई किट पहनकर परीक्षा देने पहुंचा छात्र।

जयपुर में घर, फ्लैट, भूखंड बिक्री में तेजी, 15 दिन में 4350 रजिस्ट्रियां
अनलॉक-1 में व्यावसायिक गतिविधियों ने तेजी पकड़ ली है। लोगों ने जहां घर, फ्लैट या जमीन खरीदने में उत्साह दिखाया है वहीं, इससे सरकारी खजाना भी भरने लगा है। जून के पहले पखवाड़े में 13 सब रजिस्ट्रार ऑफिस में 4350 रजिस्ट्रियां हुई हैं। इनमें 2900 भूखंड, 650 फ्लैट, 700 मकान शामिल हैं। कलेक्ट्रेट स्थित कार्यालय में 80 से 90 और शहर के अन्य सब रजिस्टार के प्रत्येक कार्यालय में 20 से 25 रजिस्ट्री रोजाना हो रही हैं। रजिस्ट्री से 77 करोड़ रुपए का रेवन्यू मिला है।

कोटा: लॉकडाउन ने रोजगार छीना; घर खर्च के पैसे नहीं बचे तो तनाव में फल विक्रेता ने फांसी लगाकर जान दे दी
कोटा में गुरुवार को अनंतपुरा के मद्रासी मोहल्ले में रहने वाले बशीर मोहम्मद (40) ने गुरुवार सुबह घर में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।  परिजनों का कहना है कि लॉकडाउन में काम ठप था। एक जून के बाद ठेला लगाना शुरू किया तो यूआईटी ने हटवा दिया। इस वजह से घर खर्च चलाने में परेशानी हो रही थी।
जोधपुर में शव ले जाने को नहीं मिली एंबुलेंस, 2 घंटे जद्दोजेहद करते रहे परिजन आखिर एंबुलेंस किराए पर कर ले गए
कोरोना से अबरार अली को खो चुके परिजन की पीड़ा को अस्पताल एवं जिला प्रशासन की लापरवाही ने और बढ़ा दिया। महात्मा गांधी अस्पताल में अली की मौत के बाद उनकी बॉडी को कब्रिस्तान ले जाने के लिए कोई एंबुलेंस उपलब्ध नहीं करवाई गई। अली के छोटे भाई इमरान ने बताया कि भाई की मौत के बाद अस्पताल ने एंबुलेंस लाने को कहा। कोई भी एंबुलेंस वाला कोरोना पॉजिटिव मरीज की बॉडी को ले जाने के लिए तैयार नही था। दो घंटे मशक्कत करने के बाद एक निजी एंबुलेंस का चालक तैयार हुआ। उसने भी बिना पीपीई किट जाने से मना कर दिया। परिजनों ने उसे 700 रुपए का पीपीई किट लाकर दिया। वहीं शव के साथ जाने वाले परिजनों को अस्पताल से चार पीपीई किट और ग्लव्ज दिए गए। एंबुलेंस से शव को सीधे कब्रिस्तान ले जाया गया।

जोधपुर में पीपीई किट पहनकर परिजन मृतक का शव अंतिम संस्कार के लिए ले गए।

राजस्थान: जयपुर में हुई सबसे ज्यादा मौतें

  • प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा केस जयपुर में हैं। यहां 2755 (2 इटली के नागरिक) संक्रमित हैं। इसके अलावा जोधपुर में 2368 (इनमें 47 ईरान से आए), भरतपुर में 1245, पाली में 910, उदयपुर में 634, कोटा में 552, नागौर में 591, डूंगरपुर में 396, अजमेर में 445, झालावाड़ में 353, सीकर में 424, चित्तौड़गढ़ में 203, सिरोही में 326, टोंक में 195, जालौर में 211, भीलवाड़ा में 218, राजसमंद में 172, झुंझुनूं में 285, चूरू में 226, बीकानेर में 178, जैसलमेर में 96 (इनमें 14 ईरान से आए), बांसवाड़ा में 92, बाड़मेर में 175, मरीज मिले हैं।
  • अलवर में 339, धौलपुर में 250, दौसा में 104, बारां में 62, सवाई माधोपुर में 69, करौली में 46, हनुमानगढ़ में 48, प्रतापगढ़ में 14 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। श्रीगंगानगर में 40, बूंदी में 10 पॉजिटिव मिला। जोधपुर में बीएसएफ के 50 जवान भी पॉजिटिव मिल चुके हैं। वहीं दूसरे राज्यों से आए 74 लोग पॉजिटिव मिले।
  • राजस्थान में कोरोना से अब तक 333 लोगों की मौत हुई है। इनमें जयपुर में सबसे ज्यादा 144 की मौत हुई। इसके अलावा, जोधपुर में 30, भरतपुर में 26, कोटा में 19, अजमेर में 13, नागौर में 10, पाली में 8, बीकानेर में 7, चित्तौड़गढ़ में 6, सिरोही, सवाई माधोपुर और सीकर में 5-5, करौली और बारां में 4-4, धौलपुर, अलवर और भीलवाड़ा में 3-3, चूरू, बाड़मेर, उदयपुर, दौसा, बांसवाड़ा और जालौर में 2-2, गंगानगर, झुंझुनू, राजसमंद, प्रतापगढ़ और टोंक में 1-1 की मौत हो चुकी है। वहीं दूसरे राज्य से आए 23 व्यक्ति की भी मौत हुई है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here