• चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि वर्तमान में राज्य के 15 जिलों के 21 केंद्रों पर कोरोना की जांच की जा रही
  • एसएमएस अस्पताल में दिल, किडनी, ब्लड प्रेशर, लीवर और दमा-अस्थमा जैसी गंभीर बीमारी होने के बावजूद 176 मरीजों ने कोरोना को हराया

दैनिक भास्कर

Jun 04, 2020, 11:26 AM IST

जयपुर. राजस्थान में गुरुवार को 68 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। इनमें भरतपुर में 16, जयपुर, जोधपुर और चूरू में 12-12, कोटा में 7, झुंझुनू में 5, बाड़मेर में 2, सवाई माधोपुर और नागौर में 1-1 संक्रमित मिले। जिसके बाद कुल पॉजिटिव की संख्या 9720 पहुंच गई।

राजस्थान में संक्रमण की स्थिति नियंत्रित नहीं हो पा रही है। राज्य का भरतपुर जिला अब कोरोना का नया हॉटस्पॉट बन गया है। यहां पिछले 24 घंटे में 104 नए पॉजिटिव केस सामने आए। इसके बाद जिले में कुल संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर और 471 तक पहुंच गया है। भरतपुर अब राजस्थान के सबसे ज्यादा संक्रमित 10 जिलों में सातवें नंबर पर पहुंच गया है। इनमें जयपुर 2138, जोधपुर 1685, उदयपुर 568, पाली 549, कोटा 501, नागौर 476 हैं। माना जा रहा है कि ग्रामीण इलाकों में बाहर से लौटे प्रवासी श्रमिक और शहर में सब्जी विक्रेता बड़े सुपर स्प्रेडर निकले। कोरोना पॉजिटिव रोगियों की बढ़ती संख्या को लेकर जिला प्रशासन भी चिंतित है। यही वजह है कि पूरे भरतपुर शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया है। इस बार पहले लॉकडाउन से भी ज्यादा सख्ती बरती गई है।

अब प्रदेश के 15 जिलों के 21 केंद्रों पर कोरोना की जांच की सुविधा
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि वर्तमान में राज्य के 15 जिलों के 21 केंद्रों पर कोरोना की जांच की जा रही है। सर्वाधिक प्रवासी आने वाले 10 जिलों में जांच सुविधाएं शीघ्र प्रारंभ कर दी जाएंगी। शर्मा ने बताया कि आने वाले दिनों में प्रत्येक जिले में जांच सुविधाएं विकसित की जाएगी, ताकि कोरोना का शुरुआती दौर में ही पता चल जाए और संक्रमण ना फैल सके। 

अनलॉक होने के बाद जयपुर में सोशल डिस्टेंसिंग भूले लोग।

जयपुर में दिल, किडनी, लीवर, शुगर, ब्लड प्रेशर जैसी बीमारी वाले 176 मरीज कोरोना से जीते
एसएमएस अस्पताल में दिल, किडनी, ब्लड प्रेशर, लीवर और दमा-अस्थमा जैसी गंभीर बीमारी होने के बावजूद 176 मरीजों ने कोरोना को हरा दिया है। इनमें युवा, महिला और बुजुर्ग शामिल है। खास बात ये है कि 176 में से 20 मरीज ऐसे थे, जो पहले से दो-दो बीमारी की गिरफ्त में थे। मन में विश्वास था कि वायरस से डटकर मुकाबला करेंगे तो उसे आसानी से हरा देंगे। पहले से चल रही बीमारी का नियमित दवा का सेवन और प्रोटोकॉल की पालना से कोरोना को मात दे दी है। पॉजिटिव से निगेटिव होकर घर लौटे है। डॉ.भंडारी के अनुसार यहां से ठीक होने वाले 876 मरीजों में से 176 से ज्यादा मरीज कोविड के साथ डायबिटीज, दिल, किडनी और लीवर जैसी बीमारी से ग्रसित थे।

जोधपुर में कोरोना जांच से बढ़े मानसिक तनाव में बुजुर्ग ने लगा लिया फंदा
9वीं चौपासनी रोड के निकटवर्ती सरगरा कॉलोनी में रहने वाले एक बुजुर्ग की कोरोना जांच रिपोर्ट तो नेगेटिव आई, लेकिन मानसिक तनाव के चलते उन्होंने सोमवार सुबह अपने घर में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। प्रताप नगर पुलिस ने बताया कि चौपासनी रोड सरगरा कॉलोनी निवासी गोरधन उर्फ दीपक की ओर से रिपोर्ट दी गई। इसमें बताया गया कि उसके पिता नारायण सरगरा (72) कुछ दिनों से मानसिक तनाव में थे। गत दिनों उनकी कोरोना जांच भी हुई थी और इसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। सोमवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे नारायण सरगरा ने अपने कमरे में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस ने औपचारिकताओं के बाद शव परिजनों को सौंप दिया।

झुंझुनू मार्च और अप्रैल के सभी मरीज सही
जिले में मार्च में 8 मरीज कोरोना संक्रमित मिले थे। इन सभी का इलाज जयपुर के एसएमएस अस्पताल में हुआ। ये सभी ठीक हो चुके है। दूसरी स्टेज में जमात और विदेश से लौटने वाले 34 संक्रमित जांच में सामने आए थे। ये सभी कोरोना को हरा चुके है। इनमें 26 का उपचार जयपुर में हुआ था और 08 मरीजों का पहली बार बीडीके अस्पताल में उपचार किया गया। 05 मई तक जिले में कोरोना के सभी 42 मरीज पूरी तरह से ठीक हो गए थे। जिसके बाद कुल 143 संक्रमितों में से अब तक 111 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है। वहीं, 30 एक्टिव केस ही बचे हैं। 

उदयपुर में मास्क बनाती महिलाएं। इनके बनाए मास्क फ्रांस तक सप्लाई हो रहे हैं।

राजस्थान: सभी 33 जिलों तक पहुंचा संक्रमण

  • प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा केस जयपुर में हैं। यहां 2138 (2 इटली के नागरिक) संक्रमित हैं। इसके अलावा जोधपुर में 1685 (इनमें 47 ईरान से आए), उदयपुर में 568, पाली में 549, कोटा में 501, नागौर में 476, भरतपुर में 471, डूंगरपुर में 373, अजमेर में 356, झालावाड़ में 302, सीकर में 231, चित्तौड़गढ़ में 180, सिरोही में 179, टोंक में 169, जालौर में 162, भीलवाड़ा में 155, राजसमंद में 145, झुंझुनूं में 148, चूरू में 129, बीकानेर में 108, जैसलमेर में 88 (इनमें 14 ईरान से आए), बांसवाड़ा में 85, बाड़मेर में 104, मरीज मिले हैं।
  • उधर, अलवर में 82, धौलपुर में 65, दौसा में 62, बारां में 45 सवाई माधोपुर में 23, हनुमानगढ़ में 30, प्रतापगढ़ में 14, करौली में 19 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। श्रीगंगानगर में 7, बूंदी में 2 पॉजिटिव मिला। जोधपुर में बीएसएफ के 50 जवान भी पॉजिटिव मिल चुके हैं। वहीं दूसरे राज्यों से आए 19 लोग पॉजिटिव मिले।
  • राजस्थान में कोरोना से अब तक 209 लोगों की मौत हुई है। इनमें जयपुर में सबसे ज्यादा 104 (जिसमें चार यूपी से) की मौत हुई। इसके अलावा, जोधपुर में 20, कोटा में 17, नागौर और अजमेर में 7-7, पाली में 7, भरतपुर में 6 सीकर में 5, बीकानेर और चित्तौड़गढ़ में 4-4, सिरोही और करौली में 3-3, बारां, बांसवाड़ा, जालौर, अलवर और भीलवाड़ा 2-2, झुंझुनू, दौसा, राजसमंद, उदयपुर, चूरू, प्रतापगढ़, सवाई माधोपुर और टोंक में 1-1 की मौत हो चुकी है। वहीं दूसरे राज्य से आए चार व्यक्ति की भी मौत हुई है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here