• गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली के हालात पर उपराज्यपाल बैजल और मुख्यमंत्री केजरीवाल के साथ बैठक की थी
  • अमित शाह ने दिल्ली में कोरोना की टेस्टिंग बढ़ाने और जांच फीस तय करने के लिए हाईलेवल कमेटी बनाई थी
  • गृह मंत्रालय ने कहा- नई जांच किट के लिए दिल्ली को प्राथमिकता दी गई, इसके लिए राजधानी में 169 सेंटर बने

दैनिक भास्कर

Jun 18, 2020, 03:00 AM IST

नई दिल्ली. दिल्ली में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच बुधवार को केंद्र सरकार की ओर से लोगों को राहत मिली। गृह मंत्री अमित शाह के निर्देश पर यहां कोरोना जांच फीस घटाकर 2400 रुपए की गई। गृह मंत्रालय ने कहा है कि गुरुवार से राजधानी में इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) से अप्रूव नई रैपिड एंटीजन विधि के जरिए टेस्टिंग शुरू होगी। इसके नतीजे जल्दी मिलेंगे।

शाह ने दिल्ली के हालात पर उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अमित शाह के साथ बैठक की थी। जिसमें उन्होंने कोरोना की टेस्टिंग को बढ़ाने और इसकी फीस घटाने पर फैसला लेने के लिए हाईलेवल कमेटी बनाई थी। जिसमें दिल्ली के उपराज्यपाल और मुख्यमंत्री के अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन भी शामिल थे।

गृह मंत्रालय ने ट्वीट कर फीस घटाने की जानकारी दी
मंत्रालय के प्रवक्ता के मुताबिक, दिल्ली में ज्यादा टेस्टिंग और उनके नतीजे जल्द मिल जाएं, इसके लिए नई रैपिड एंटीजन विधि से जांच की जाएगी। जांच की नई व्यवस्था में दिल्ली को प्राथमिकता दी गई है। इसके लिए राजधानी के अलग-अलग हिस्से में 169 सेंटर बनाए गए।

प्रवक्ता ने कहा कि संक्रमण पर लगाम कसने के लिए आईसीएमआर और दिल्ली सरकार ने कंटेनमेंट जोन में कॉन्टैक्ट मैपिंग तेज की। उम्मीद है कि यह कवायद 20 जून तक पूरी कर ली जाएगी। केंद्र के निर्देश पर दिल्ली के 242 कंटेनमेंट जोन में स्वास्थ्यकर्मी घर-घर जाकर सर्वे करने में जुटे हैं।

दिल्ली में 503 कोविड आइसोलेशन कोच भी तैनात
कोरोना संक्रमितों के लिए अस्पतालों में बेड और इंफ्रास्ट्रक्टर की कमी न आए, इसके लिए दिल्ली सरकार ने कुछ होटलों को अस्पतालों से अटैच किया है। इसके अलावा रेलवे ने भी अपने 503 कोविड आइसोलेशन कोच आनंद विहार स्टेशन, सकूरबस्ती डिपो और सराह रोहिल्ला स्टेशन पर तैनात किए हैं। आइसोलेशन कोच के जरिए मरीजों के लिए 8000 बेड का इंतजाम हो गया है। 

आईसीएमआर ने जांच फीस 4500 रु. तय की थी
पिछले महीने आईसीएमआर ने कोरोना की आरटी-पीसीआर जांच फीस 4500 हजार रुपए तय की थी। इस दौरान राज्यों को मान्यता प्राप्त लैब के साथ फीस कम करने के लिए छूट दी गई थी।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here