• होटल्स और रेस्टोरेंट्स ग्राहकों को कोरोना से सुरक्षित रखने के लिए सैनिटाइज स्टे और कॉन्टैक्टलेस सर्विस को बढ़ावा दे रहे
  • होटल के अंदर एंट्री करने पर बैग सैनिटाइज करें, एलिवेटर का बटन और रूम डोर लाॅक को हर दो घंटे में सैनिटाइज करें

गौरव पांडेय

गौरव पांडेय

Jun 20, 2020, 05:55 AM IST

देश में अनलॉक-1 चल रहा है। तकरीबन ढाई महीने के बाद होटल और रेस्टोरेंट्स एक बार फिर खुल गए हैं। लेकिन, कुछ शर्तों के साथ। हालांकि, लोग अभी भी होटल और रेस्टोरेंट्स में जाने से बच रहे हैं। दिल्ली स्थित स्वाकेयर कंसल्टेंसी के डॉक्टर और साइकोलॉजिस्ट हर्षवर्धन लोगों को होटल और रेस्टोरेंट्स में नहीं जाने की सलाह देते हैं। वह कहते हैं कि आप कोशिश करें कि इस वक्त कतई शौक के लिए होटल या रेस्टोरेंट्स न जाएं।

हैदराबाद स्थित मेडिकवर हॉस्पिटल के चीफ हेपिटोबिलेरी और लीवर ट्रांसप्लांट सर्जन सचिन डागा कहते हैं कि होटल और रेस्टोरेंट्स में जाएं भी तो टेबल और चेयर को छूने से बचें। गर्म खाना ही खाएं। ज्यादा वेटिंग हो तो वापस घर आ जाएं। लेकिन, होटल्स और रेस्टोरेंट्स चेन ग्राहकों को कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए हर तरह के प्रयास भी कर रही हैं।

ओयो होटल के सीइओ रितेश अग्रवाल कहते हैं कि कंज्यूमर्स की सेफ्टी और सुरक्षा के लिए हमने ‘सैनिटाइज्ड स्टे’ का काम शुरू किया है। भारत के अलावा अमेरिका, चीन, ब्राजील, मैक्सिको तक के अपने होटल्स में हम इस तरह की सुविधा दे रहे हैं। रितेश कहते हैं कि सुरक्षा स्टोर की तरह हम ‘सुरक्षा होटल’ योजना पर भी काम कर रहे हैं, ताकि कंज्यूमर का ओयो पर ट्रस्ट बना रहे। 

एक्सपर्ट्स बता रहे होटल और रेस्टोरेंट्स में जाने के दौरान किन 5बातों का जरूर ध्यान रखें- 

  • लोगों के लिए-
  • होटल और रेस्टोरेंट्स के लिए-
  • युवा भी होटल, रेस्टोरेंट्स जाने से बचें-

सर्जन सचिन डागा कहते हैं कि होटल या रेस्टोरेंट्स में अभी किसी को भी जाने से बचना चाहिए, जब तक कि बहुत जरूरी न हो। डागा कहते हैं कि कोई ऐसा कतई न सोचें कि आप युवा हैं, तो कहीं भी जा सकते हैं, क्योंकि हाल-फिलहाल में कोविड-19 से युवाओं की भी जानें गई हैं। 

  • ऐसे रूम लें, जिनमें सनलाइट आए-

डॉक्टर हर्षवर्धन कहते हैं कि कोशिश करें कि इस वक्त शौक के लिए होटल या रेस्टोरेंट्स न जाएं। गेट, चेयर-टेबल टच करने बचें, वॉशरूम के हैंडल और बेसिन को छूने के बाद हाथ जरूर सैनिटाइज करें। क्योंकि, इन चीजों के चलते भी वायरस फैलने का खतरा ज्यादा है। 
पूरे समय ग्लव्ज पहनें। एसी रूम बहुत यूज न करें। दरवाजे और खिड़की को खोलकर रखें। ऐसे रूम लें, जहां सनलाइट रहे, ताकि एयर सर्कुलेशन बना रहे, क्योंकि बैक्टीरिया निकल नहीं पाते। 

  • काॅन्टैक्टलेस और हाइजीन फ्री सर्विस-

इंडियन होटल कंपनी लिमटेड के एमडी और सीईओ पुनीत चट्वाल कहते हैं कि इस वक्त चुनौती बहुत बड़ी है, लेकिन हम यात्रियों का ख्याल रखने के लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं। हम अपने होटल्स को हाइजीन फ्री बना रहे हैं। सरकार और डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइन के मुताबिक काम कर रहे हैं।

ओयो कंपनी के पीआरओ करन कहते हैं कि अभी कंपनी का पूरा फोकस कॉन्टैक्टलेस सर्विस पर है। ताकि कंज्यूमर को वायरस का खतरा कम से कम हो। कंपनी देश के सभी 18 हजार होटलों में सैनिटाइज्ड स्टे की व्यवस्था करवा रही है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here