• कोरोना के कारण भारत ने 23 मार्च से अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध लगा रखा
  • 25 मई से घरेलू उड़ानें शुरू कर दी गई हैं, 6 मई से वंदे भारत मिशन शुरू किया था

दैनिक भास्कर

Jul 03, 2020, 04:10 PM IST

अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर लगा प्रतिबंध सरकार ने 31 जुलाई तक बढ़ा दिया है। पहले इन पर 15 जुलाई तक रोक लगाई गई थी। डीजीसीए के आदेश के मुताबिक, इस फैसले का असर अंतरराष्ट्रीय कार्गो फ्लाइट्स और विशेष उड़ानों पर नहीं पड़ेगा। कोरोनावायरस महामारी के कारण भारत ने 23 मार्च से अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध लगा रखा है।

देश में 25 मई से घरेलू उड़ानें शुरू कर दी गई हैं। 21 मई को इसके लिए डिटेल गाइडलाइंस भी जारी की गई थीं।

करीब 20 एयरपोर्ट से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें
देश के करीब 20 हवाईअड्डों से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें मिलती हैं। इन एयरपोर्ट्स से 55 देशों के 80 शहरों तक पहुंच सकते हैं। दुनिया के कई देश कोरोना की चपेट में हैं। ऐसे में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक जारी रखना जरूरी है। स्टेटिस्टा के मुताबिक, भारत में 2019 में करीब 7 करोड़ लोगों ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में सफर किया।

आज से वंदे भारत मिशन का चौथा फेज
वंदे भारत मिशन का चौथा फेज शुक्रवार से शुरू हो गया है। इसके तहत एयर इंडिया 3 से 15 जुलाई तक 17 देशों से 170 फ्लाइट्स संचालित करेगी। ऐसे में विदेश में फंसे भारतीयों को लाने के लिए सरकार ने 6 मई से वंदे भारत मिशन शुरू किया था।

मिशन के चौथे फेज में कनाडा, अमेरिका, ब्रिटेन, केन्या, श्रीलंका, फिलिपींस, किर्गिस्तान, सऊदी अरब, बांग्लादेश, थाईलैंड, साउथ अफ्रीका, रूस, ऑस्ट्रेलिया, म्यांमार, जापान, यूक्रेन और वियतनाम से भारतीयों को वापस लाया जाएगा। इन देशों से 170 फ्लाइट्स का संचालन होगा। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here