दैनिक भास्कर

Feb 08, 2020, 03:12 PM IST

देश की सबसे बड़ी लग्जरी कार निर्माता कंपनी मर्सिडीज बेंज इंडिया ने ऑटो एक्सपो 2020 में “रेस्टलेस फॉर टुमारो” टैगलाइन को पूरी तरह से सार्थक करते हुए अनोखे अंदाज में कई बड़े लॉन्च किए। मर्सिडीज बेंज इंडिया शुरू से ही अपने प्रोडक्ट लाइन अप को लेकर काफी आक्रामक रही है। एक के बाद एक लॉन्चेस के साथ ही ये पूरी तरह से साबित हो गया है मर्सिडीज भारतीय बाजार में पूरी तरह से लग्जरी अंदाज में अपनी बाजार हिस्‍सेदारी की प्रमाणिकता को साबित कर रही है। जब इंडस्ट्री ने बीएस6 के बारे में संकल्प लेना शुरू किया उससे कहीं पहले 2018 के ऑटो एक्सपो में मर्सिडीज बेंज इंडिया ने अपना बीएस6 प्रोडक्ट लॉन्च कर दिया था वो भी डीजल इंजन के साथ। 15वें ऑटो एक्सपो में मर्सिडीज का ये लग्जरी अंदाज पूरी तरह से नजर आ रहा है।

ऑटो एक्सपो में पहले ही दिन मर्सिडीज बेंज इंडिया ने अपनी नई कार मर्सिडीज एएमजी जीटी63एस 4 मैटिक डोर कूपे को लॉन्च कर अपने इरादे जाहिर करते हुए अपने रेस्टलेस फॉर टुमारो के टैगलाइन चरित्र को जाहिर कर दिया। इस फोर सीटर कार की टॉप स्पीड 315 किलोमीटर/घंटा है। महज 5 सेकेंड में ये कार 100 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड को पकड़ लेती है। भारतीय बाजार में इसकी कीमत 2.42 करोड़ है। ऑटो एक्सपो 2020 की शायद यह सबसे महंगी कार होगी। इसके लॉन्चिंग पर मर्सिडीज-बेंज के हेड ऑफ ओवरसीज रिजन, मैथियस ल्यूर ने कहा कि भारत र्मिसडीज-बेंज के लिए एक बेहद महत्वपूर्ण उभरता हुआ बाजार है।

मर्सिडीज बेंज की शानदार एमपीवी, मार्को पोलो, दो वेरिएंट में बाजार में आई है। वी क्लास मार्को पोलो की कीमत है 1 करोड़ 38 लाख रुपये, जबकि इसके वी क्लास मार्को पोलो की कीमत है रखी गई है 1 करोड़ 46 लाख रुपये। मर्सिडीज की इस शानदार मल्टी पर्पज गाड़ी में वो लग्जरी समाहित है जिसका इंतजार काफी समय से एक वो क्लास कर रही थी जो अपनी गाड़ी को गाड़ी नहीं बल्कि घर की तरह प्रयोग करना चाहते हैं।

इसके अलावा मर्सिडीज ने एक क्लास लिमोजीन व नई जीएलए को ऑटो एक्सपो 2020 में शोकेस करते हुए ये बताने की कोशिश की कि आने वाले वक्त में अभी बहुत कुछ मर्सिडीज के तरफ से और आने वाला है। इसके साथ ही ईक्यूसी भी ऑटो एक्सपो में नजर आ रही है। सबकुछ ग्रीन हो इसका भी भरोसा मर्सिडीज का हॉल नंबर 15 में स्थिति स्टॉल दे रहा है।

आपको बता दें कि मर्सिडीज बेंज इंडिया ने भारतीय बाजार में अपनी शुरुआत साल 1994 में की, लेकिन कंपनी ने पुणे के चाकन में अपना प्‍लांट साल 2009 में 100 एकड़ में स्‍थापित किया। मर्सिडीज बेंज भारत की पहली ऐसी कंपनी बनी जिसने साल 2018 जनवरी में अपना बीएस6 प्रोडक्ट  एस 350 डी के रूप में लॉन्च किया था। बीते साल 2019 में कंपनी ने 13 हजार 786 यूनिट की बिक्री की।  

मौजूदा समय में कंपनी मायबैक एस 560, एस क्लास, ई क्लास लांग व्हीलबेस, सी क्लास, सीएलए लग्जरी सेडान और जीएलए, जीएलई और जीएलएस लग्जरी एसयूवी स्‍थानीय स्तर पर बनाती व बेचती है। सीबीयू यानी कि कंपलीट बिल्ट यूनिट के तहत कंपनी वी क्लास, वी क्लास एलीट, सीएलएस, ई क्लास ऑल टिरेन, सी क्लास कैब्रियोले, एस 600 गार्ड, एसयूवी जी350 डी और हाल ही में लॉन्च हुई जीलएसी विद एमबीयूएक्स को पेश किया था।

इस बारे में और अधिक जानकारी देते हुए कंपनी के एमडी व सीईओ मार्टिन श्वेंक ने बताया कि,”ऑटो एक्सपो में हमारे द्वारा किया रहा पार्टीसिपेशन इस बात का प्रमाण है कि जो हमारी बुनियाद है और ग्राहकों के प्रति ,जो हमारी कर्त्तव्यनिष्ठा है हम उसके साथ एक मजबूत ब्रांड के रूप में हमेशा खड़े हैं। ऑटो एक्सपो में  हमारी प्रस्तुति एक सकारात्मक भविष्य का संकेत देती है। हम भविष्य को लेकर सजग हैं और पूरी तत्परता के साथ काम कर रहे हैं और ये सबकुछ आपको हमारे प्रोडक्ट्स में नजर आएगा, हम यहां के लोगों की जरूरत को समझते हैं और यही वजह है हमारी प्रोडक्ट को लगातार अपग्रेड करने या फिर कुछ नया करने की बेचैनी अब हमारे टैगलाइन में आपको नजर आएगी। “

“रेस्टलेस फॉर टुमारो” के बारे में ज्यादा जानने के लिए क्लिक करें।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here