दैनिक भास्कर

Nov 30, 2019, 11:06 AM IST

ऑटो डेस्क. लॉस एंजिल्स में चल रहे ऑटो शो में नजारा मिलता है आने वाले दौर की टेक्नोलॉजी का। इस बार जिन फीचर की सबसे ज्यादा चर्चा है, वो ये रहे…

स्मार्टफोन बन जाएगा रिअर व्यू मिरर

‘कार्मा एससी2’ कनसेप्ट में इस टेक्नोलॉजी को पेश किया गया है। आप अपने स्मार्टफोन को रिअर व्यू मिरर से वायरलेसली चार्ज करने के लिए लगाइए। आपका स्मार्टफोन कार में लगे कैमरों को उपयोग करने लगेगा और रिअर व्यू मिरर की तरह ही बर्ताव करेगा। इसमें दिखने वाले नजारों को रिकॉर्ड किया जा सकता है, तो जिस खूबसूरत रास्ते से आप गुजरे हैं, उसे फिर से जी सकते हैं। इसे देखने के लिए कार की विंडस्क्रीन पर लगे प्रोजेक्टर का उपयोग कर गैराज की दीवार पर नजारों को अंकित किया जा सकता है।

जब चाबी गुम जाए

अगर कार की चाबी गुम हो जाए तो चिंता की बात नहीं! ‘फोन एज ए की’ टेक्नोलॉजी की मदद से अब स्मार्टफोन को ही चाबी बना सकते हैं। एक एप स्मार्टफोन में डाउनलोड करना होगा और यही आपकी कार की चाबी बन जाएगा। फोन से ही आप कार के दरवाजे खोल सकते हैं, स्टार्ट कर सकते हैं। किसी को कार पार्क करने के लिए दें, तो भी फोन देने की जरुरत नहीं। उन्हें अस्थाई पासकोड देकर भी कार के साथ रवाना कर सकते हैं। यह टेक्नोलॉजी ‘लिंकन कोर्सेर’ और ‘फोर्ड मस्टैंग माक ई’ में नजर आएगी।

पीछे बैठने वालों को पूरा कंट्रोल

पिछली सीट पर बैठने वालों को अक्सर यह शिकायत होती है कि क्लाइमेट कंट्रोल सिस्टम और म्यूजिक सिस्टम का कंट्रोल नहीं मिल पाता। अब आर्टिफिशियल टेक्नोलॉजी इस शिकायत को दूर करने वाली है। लेक्सस की ‘एलएफ-30 कन्सेप्ट’ में ये सभी कमांड पीछे बैठे व्यक्ति की छत पर उभर आते हैं और सिर्फ हाथों के इशारे से वो अपने पसंद का गाना लगा सकता है या मनचाहा तापमान सेट कर सकता है।

डोर हैंडल की जगह लाइट

फॉक्सवेगन की ‘आईडी.स्पेस विजन कन्सेप्ट’ में डोर हैंडल गायब है, जैसा कि आज कल हर कंपनी करने में जुटी हुई है। हैंडल्स की जगह आपको एक रोशनी नजर आएगी। रोशनी वाली जगह पर हाथ से छू लें और हल्का-सा दबाएं… दरवाजा खुल जाएगा। यह टेक्नोलॉजी कारों को उस दिशा में ले जा रही है जहां कारों के दरवाजों में हैंडल्स के लिए कोई जगह नहीं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here