• एनर्जी एफिशिएंसी इन माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम इंटरप्राइजेज कार्यक्रम में कहा
  • स्वच्छ ईंधन के तौर पर सीएनजी, एथेनॉल, मेथनॉल का विकल्प भी

दैनिक भास्कर

Sep 24, 2019, 10:16 AM IST

नई दिल्ली. केंद्रीय सड़क परिवहन एंव राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने इलेक्ट्रिक वाहनों के संबंध में एक बड़ा बयान दिया है। गडकरी ने कहा कि अगले दो साल में भारत की सभी बसें इलेक्ट्रिक में कन्वर्ट हो जाएंगी। गडकरी ने यह बयान नेशनल कॉन्क्लेव ऑन एनर्जी एफिशिएंसी इन माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम इंटरप्राइजेज के कार्यक्रम में दिया।

 

गडकरी ने कहा कि जो लोग इलेक्ट्रिक में शिफ्ट नहीं करेंगे, उनके पास स्वच्छ ईंधन के तौर पर बॉयो सीएनजी, एथेनॉल, मेथनॉल से भी बसों को लगाने का विकल्प होगा। बता दें कि इससे पहले भी गडकरी बयान दे चुके हैं कि इलेक्ट्रिक मोबिलिटी नेचुरल प्रोसेस से चलन में आएगा। इसे नियम बनाकर जबरदस्ती नहीं थोपा जा सकता है और न ही पेट्रोल और डीजल वाहनों पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है।

 

ऑटो मोबाइल सेक्टर के मंदी के दौर से जूझने के बावजूद नितिन गडकरी इलेक्ट्रिक व्हीकल के समर्थक रहे हैं।और समय-समय पर इसके पक्ष में बयान देते रहे हैं। सरकार ईवी के लिए राहत की भी घोषणा कर चुकी है। हालांकि नीति आयोग के पेट्रोल और डीजल चालित टू-व्हीलर, थ्री व्हीलर वाहनों पर प्रतिबंध लगाने के प्रस्ताव को लागू करने के प्रस्ताव पर रोक भी लगा चुके हैं।

 

नीति आयोग ने दिया था प्रतिबंध का प्रस्ताव

 

सरकारी थिंक-टैंक नीति आयोग ने इस साल जून माह में एक सुझाव दिया था। इसके तहत पेट्रोल-डीजल से चलने वाले सभी टू-व्हीलर वाहनों को साल 2023 और थ्री व्हीलर वाहनों पर साल 2025 तक पूर्ण प्रतिबंध लगाने की समयसीमा तय की थी।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here