प्रधान मंत्री कार्यालय (PMO) ने कथित तौर पर Aarogya Setu ऐप को अपग्रेड करने के लिए टेक लीडर्स और अधिकारियों की एक हाई-लेवल कमीटी का गठन किया है। बता दें कि आरोग्य सेतु भारत सरकार की ओर से कोविड-19 (कोरोनावायरस) संक्रमण को ट्रैक करने वाला आधिकारिक ऐप है। पीटीआई ने सूत्रों का हवाला देते हुए जानकारी दी है कि इस समिति ने पहले ही हफ्ते में 3-4 बार बैठक कर दी है, जिसमें पीएमओ भी शामिल है। 2 अप्रैल को लॉन्च किया गया Aarogya Setu ऐप यूज़र्स को यह जांचने में मदद करता है कि क्या वे किसी कोरोनोवायरस संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए हैं या नहीं। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और कई सरकारी संस्थान लगातार भारतीय नागरिकों को इस ऐप को डाउनलोड करने की सलाह दे रहे हैं।

पीटीआई के अनुसार, प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार विजय राघवन इस समिति का को लीड कर रहे हैं। इस समिति में अधिकारी और टेक्नोलॉजी लीडर, जैसे आईटी सचिव अजय साहनी, ट्राई के चेयरमैन आरएस शर्मा, दूरसंचार सचिव अंशु प्रकाश, टाटा ग्रुप के चेयरपर्सन एन चंद्रशेखरन, महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा, टेक महिंद्रा ग्रुप के सीईओ सीपी गुरनानी, आईआईटी मद्रास के प्रोफेसर वी कामकोटी और गूगल मैप्स इंडिया के ललितेश कटरागड्डा शामिल हैं।

पीएमओ द्वारा गठित की गई इस समिति का उद्देश्य आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और जीपीएस का इस्तेमाल करके उन मरीजों की आवाजाही को ट्रैक करना है, जो क्वारंटाइन में हैं। अपडेट किया गया ऐप लोगों को उनके इलाके में दैनिक जरूरतों के वितरण के केंद्रों की जानकारी भी देगा। रिमोट हेल्थकेयर सुविधा को भी ऐप में उपलब्ध कराया जाएगा।

समिति सिर्फ स्मार्टफोन पर ही नहीं बल्कि Aarogya Setu ऐप को सभी प्रकार के फोन पर उपलब्ध कराने के लिए भी काम कर रही है।

जैसा कि हमने आपको बताया कि आरोग्य सेतु ऐप को 2 अप्रैल को लॉन्च किया गया था और लॉन्च के तीसरे दिन ही इस ऐप को 5 मिलियन यानी 50 लाख बार डाउनलोड किया जा चुका था और आज ही एक नई जानकारी सामने आई है कि इस ऐप ने लॉन्च के 13 दिन बाद 5 करोड़ डाउनलोड्स का आंकड़ा पार कर लिया है।

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here