भारतीय स्मार्टफोन बाजार में लावा भले ही सैमसंग, माइक्रोमैक्स और इंटेक्स जितनी बड़ी कंपनी ना हो लेकिन ग्राहकों का ध्यान इसने निश्चित तौर पर अपनी तरफ खींचा है और आज यह एक महत्वपूर्ण फोन निर्माता कंपनी है। नोएडा की इस कंपनी ने लगातार नए और बजट कीमत वाले प्रोडक्ट लॉन्च कर बाजार में अपनी पकड़ कायम रखी हुई है।

आज हम लावा पिक्सल वी2 का रिव्यू करेंगे। पिछले साल सितंबर में लॉन्च हुए पिक्सल वी2 को कंपनी ने एक मिड रेंज कैमरा स्मार्टफोन के तौर पर पेश किया था। इस स्मार्टफोन में फ्रंट और रियर फ्लैश के साथ 13 मेगापिक्सल का रियर कैमरा है। जानें हमारे लावा पिक्सल वी2 रिव्यू में हमें इसफोन में कौन सी कमियां और खूबियां दिखाई दीं।

लुक और डिजाइन
लावा पिक्सल वी2 देखने में शार्प, सीधा और साधारण है। फोन के किनारे मजबूत हैं और देखने में यह फोन सेरेमिक और मेटल बॉडी से बना दिखता है। हालांकि, करीब से देखने पर पता चलता है कि फोन का रियर और किनारे प्लास्टिक के बने हैं लेकिन देखने में ज्यादा प्रीमियम लगते हैं। फोन देखने में बहुत बुरा नहीं है, लेकिन हमारी नजर में फोन में थोड़ी बहुत कमी दिखती है।
 

फोन का अगला हिस्सा सादा है और फोन को पकड़ने में भी मुश्किल होती है। फोन को सुविधाजनक तरीके से पकड़ने का कोई तरीका नहीं है और फोन में स्पीकर ग्रिल भी अजीब जगह दिया गया है। पिक्सल वी2 देखने में किसी भी तरह खराब नहीं कहा जा सकता लेकिन यह बहुत खूबसूरत भी नहीं है।
 

फोन में दायीं तरफ पॉवर और वॉल्यूम बटन हैं जबकि नीचे की तरफ यूएसबी पोर्ट है। 3.5 एमएम जैक ऊपर की तरफ दिया गया है। सिंगल स्पीकर ग्रिल रियर पर लावा लोगो के बिल्कुल नीचे दिया गया है। कैमरा और फ्लैश रियर पर सबसे ऊपर बायीं तरफ दिये गए हैं। रियर पैनल को हटाकर सिम ट्रे और माइक्रोएसडी स्लॉट देखा जा सकता है। फोन की बैटरी भी देखी जा सकती है लेकिन यह रिमूवेबल नहीं है।
 

पिक्सल वी2 में 5 इंच 720×1280 पिक्सल रिजॉल्यूशन का आईपीएस-एलसीडी पैनल है। डिस्प्ले शार्प है लेकिन यह ज्यादा चमकदार और डिटेल्ड नहीं है। डिस्प्ले में कलर रीप्रोडक्शन और टोन भी बहुत अच्छे नहीं है। नीचे की तरफ कैपिसिटिव एंड्रॉयड बटन दिये गए हैं।

स्पेसिफिकेशन और सॉफ्टवेयर
लावा पिक्सल वी2 स्मार्टफोन की कीमत को देखते हुए इसके स्पेसिफिकेशन थोड़े कम कहे जा सकते हैं। इस फोन में 1 गीगाहर्ट्ज़ पर चलने वाला क्वाड-कोर मीडियाटेक एमटी6735 प्रोसेसर और 2 जीबी रैम है। फोन की 16 जीबी इंटरनल स्टोरेज को माइक्रोएसडी कार्ड की मदद से 32 जीबी तक बढ़ाया जा सकता है। फोन डुअल सिम सपोर्ट के साथ आता है और इसमें दो सिम कार्ड और एक माइक्रोसिम कार्ड के लिए अलग स्लॉट है। दोनों सिम स्लॉट भारत 4जी कनेक्टिविटी पर भारत के 4जी बैंड सपोर्ट करते हैं।
 

वी2 स्मार्टफोन में 2500 एमएएच की नॉन-यूजर-रिमूवेबल लीथियम पॉलीमर बैटरी है। फोन के साथ एक 5 वाट का चार्जर आता है।

पिक्सल वी2 एंड्रॉयड 5.1 पर चलता है जिसके ऊपर लावा के स्टार ओएस 2.0 लेयर दी गई है। ऐप ड्रॉयर के साथ इसका इंटरफेस डुअल लेयर्ड है और विजुअल इफेक्ट के लिए ढेर सारे कस्टमाइजेशन विकल्प दिये गए हैं। वॉलपेपर के अलावा तीन थीम के जरिए आईकन से लेकर दूसरे इफेक्ट से आप फोन का सामान्य लुक और यूआई बदल सकते हैं। इसके साथ ही ऐप के लिए स्क्रीन स्विच इफेक्ट और होम स्क्रीन भी बदला जा सकता है।
 

हालांकि, फोन को अपनी सुविधानुसार सेट करने के दौरान आपको कई समस्या भी इस डिवाइस में देखने को मिलेंगी। फोन में टास्क स्विचर की जगह पुराने मेन्यू बटन का प्रयोग किया गया है। इसके लिए आपको होम बटन पर देर तक प्रेस करना होगा। फोन की होम स्क्रीन को बदलना और हटाना भी आसान नहीं है। फोन में दिए कुछ क्विक लॉन्च आसानी अच्छे से काम करते हैं लेकिन कुल मिलाकर हमें इसका सॉफ्टवेयर बेहद साधारण लगा।

कैमरा
लावा पिक्सल वी2 को बाजार में कैमरा फोन की तरह पेश किया गया है। इसके डुअल एलईडी फ्लैश से लैस 13 मेगापिक्सल कैमरे से बेहतरीन तस्वीरें आने का दावा किया गया है। फोन में फ्लैश के साथ सेल्फी के लिए 8 मेगापिक्सल का एक सेकेंडरी कैमरा भी है। लेकिन रियर कैमरे से अधिकतम 720पी जबकि फ्रंट कैमरे से अधिकतम 480पी वीडियो ही रिकॉर्ड की जा सकती है।
 

फोन का कैमरा ऐप अच्छा है और इस्तेमाल करने में आसान है। वीडियो रिकॉर्ड करने के लिए आपको दो बटन प्रकिया है। कैमरा स्विचर और फ्लैश दूसरे मोड के साथ आसानी से पहुंच में आ जाते हैं। सेटिंग मेन्यू में जाकर मैनुअल सेटिंग और रिजॉल्यूशन कंट्रोल जैसे विकल्प इस्तेमाल कर सकते हैं। कैमरे में पैनोरमा, एचडीआर जैसे कई मोड भी मौजूद हैं।

लेकिन फोन के रियर कैमरे से ली गई तस्वीरों की क्वालिटी औसत ही है। तस्वीरें उतनी शानदार नहीं है जितनी कि उम्मीद थी। तस्वीरों में कलर और चमक संतोषजनक ही कहे जा सकते हैं। इस कीमत के फोन से ली गई तस्वीरों की डिटेलिंग भी ठीक है लेकिन शानदार नहीं कही जा सकती है। इंडोर में ली गईं तस्वीरें काफी अच्छी दिखीं। लेकिन दिन की रोशनी में ली जाने वालीं और बेहतर हो सकती थीं। फ्रंट कैमरे से ली गई तस्वीरें भी इस कीमत के फोन के हिसाब से ठीक आती हैं।
 

परफॉर्मेंस
लावा पिक्सल वी2 में दिया गया मीडियाटेक एमटी6735 प्रोसेसर कभी-कभी काफी धीमे काम करता है खासकर कई ऐप पर एक साथ काम करने के दौरान। लाइट गेम और इंटरनेट इस्तेमाल के दौरान फोन अच्छा काम करता है। इसलिए कीमत के हिसाब से फोन की परफॉर्मेंस ठीक है।

बेंचमार्क टेस्ट के दौरान हमें इस प्रोसेसर पर चलने वाली डिवाइस जैसे ही आंकड़े मिले।

फोन 4जी सपोर्ट के साथ आता है और 4जी व वाई-फाई पर बेहद शानदार काम करता है। कॉल क्वालिटी और हेडफोन के साथ साउंड क्वालिटी भी अच्छी है। सिंगल स्पीकर छोटा है और कमजोर है। बैटरी लाइफ ठीकठाक है और हमारे वीडियो लूप टेस्ट में बैटरी ने 8 घंटे 11 मिनट तक साथ दिया। वहीं साधारण इस्तेमाल के दौरान भी फोन की बैटरी जल्दी खत्म होती है खासकर (4 जी नेटवर्क पर) और शाम तक इसे चार्ज करने की जरूरत पड़ जाती है।
 

हमारा फैसला
लावा पिक्सल वी2 कम कीमत में एक साधारण स्मार्टफोन है। फोन का लुक बुरा नहीं है। यह 4 जी सपोर्ट करता है और कैमरा भी ठीक है। फ्रंट फ्लैश के साथ कैमरे से कई मोड में शूटिंग कर अलग-अलग किस्म की तस्वीरें ली जा सकती हैं।

हालांकि, इस फोन को पूरी तरह से परफेक्ट नहीं कहा जा सकता। फोन की औसत परफॉर्मेंस, खराब बैटरी लाइफ, औसत फोटो और वीडियो क्वालिटी और पुरानी यूआई के साथ फोन में कई कमियां हैं। लेकिन अगर आप एक सामान्य स्मार्टफोन यूजर हैं और एक अच्छा कैमरा चाहते हैं तो लावा पिक्सल वी2 आपके लिए है। हालांकि, जो यूजर ज्यादा दमदार और स्पेसिफिकेशन वाला फोन चाहते हैं उनके लिए यू यूफोरिया ज्यादा बेहतर विकल्प है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here